जब से हुई है तुमसे मोहब्बत, यह रूह तुम्हारी ख़ुशबू से महकने लगी है, दुनियां ने जब भी इत्र का नाम पूछा, ना जाने क्यू शर्म से नज़रे झुकने लगी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.