नजदीक ना आओ के जल जाएंगे हम, दूर ना जाओ की बुझ जाएंगे हम, जलने दो इस आग को यूही दिलो के दरम्यान , हम तुम सुलगते रहे रात भर यूही, सुबह दो नही एक नज़र आएंगे हम

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.