वो लम्हे भी हसीन होते है,
जब कोई अपना करीब होता है,
कहने को दो दिखते है,
पर दिल सिर्फ एक ही धड़कता है

आप से ही मेरी पहचान हुई है
कही सदियों बाद इस सुने दिल में रोशनी हुई है,
खुद को भी नही जानते थे हम तो,
आपको देखा तो उस रब से मुलाकात हुई है

जब भी तुम्हे सोचा है अपने पास ही पाया है,
बस इतना बता दो आप कोई और हो या मेरा ही साया है

वफ़ा निभायी है हमने औऱ मरते दम तक निभाएंगे,
तुम कही भी रहो हम बस तुम्हे चाहेंगे,
कभी आये याद हमारी तो शक ना करना,
चले आना अपने इंतज़ार मे पलके बिछाये हमे ईधर ही पाएंगे

तुम्हें दिल ने चाहा है मेरे,
तुम्हे जिस्म ने चादर सा ओड़ा है मेरे,
रूह में तुम समाये हो,
धड़कनो को तुम्हारा ही नाम दिया है मैने

तेरे सीने पर सर रख के जब धड़कनो को सुनती हु,
एक सकून सा मिलता है जब तेरी बाहों में आती हु,
एक मीठा एहसास सा है तुझे अपना कहने का,
मैं खुद को पूरा कर लेती हूं जब तुम्हें करीब पाती हूँ

सबने चेहरा देखा दिल किसी ने ना देखा,
कोई चाहने वाला तोह दूर की बात है,
हमने तो कोई रोते को कंधा देने वाला ना देखा,
कहते थे उम्र भर साथ निभायेंगे जो,
जनाजे में भी उनको शामिल होते ना देखा

जब आपने मोहब्बत का इज़हार किया,
हम लहरा के आगोश में आ गए,
निभाएंगे ज़िंदगी भर ये साथ यूही,
यह सुन आपकी बाहों में समा गए

मुझे हँसना मुस्कुराना सिखाया आपने,
जिंदगी हसीन है बताया आपने,
जब उठ के चल दिए साथ हम,
तोह राहे बदल अपनी यू तन्हा कर दिया आपने

साथ हसीन हो मुश्किल राहे आसान बन जाती है,
दिलों में मोहब्बत हो पतझड़ भी बहार बन जाती है,
जब आँखे बोलती है बिना अल्फ़ाज़ गुफ्तगू हो जाती है,
जब पहलू में मेहबूब हो वीराने में भी महफिल सज जाती है