Teri diwangi

तेरी दीवानगी का असर तो देखो
जिस राह से तेरा गुजरना हुआ हमने वहीं आशिया बसा लिया
???

मायुस दिल फिर घडका है
गुम होती सासों ने रफ्तार पकडी है
सब तेरे नाम का ही असर है
जो दफन हुए अरमानों को हवा दी है
???

तेरी दीवानी हु सब जानते है
अब रहा नही जाता दुर तुझसे
तु भी जान ले कभी सीने से लगा के
???

तेरी दीवानगी का असर तो देखो
तेरा नाम सुनती हु तो नजरों कयु झुक जाती है

Ghayal dil

ना कर रहम की उम्मीद उससें ए दिल
खंजर भी मारेगा और लहु ना बहे ये कह के मोहबत का सबुत भी मांंगेगा
???

खुन की शकल मे दर्द टपकता है इस दिल से
तुझमे अहसास की कमी है ये तो पता था
मरहम का काम देगी इक नजर देख पयार से
???

अभी तो समभले भी ना थे हम
अभी तो इस टुटे दिल के टुकडे समेटे नही
इस मोहबत को दफन भी ना कर पाए हम तो
तुमने फिर इस रिसते दिल को कुरेद दिया खुबसूरत वेबफाई के तीर से
???

कयु घाव पे घाव देते हो
हमने तो मान ही लिया कि तेरे काबिल हम नही
???

ऐसी कया खता हुई कि हम अब एक नहीं
गलती हमसे हुई या किसी और की नजरों के तीर काम कर गए

Tum hi ho

मैने उस रब से खुशियां मागीं, मेरी झोली भर दी
मैने सकुन मांगा जिदंगी भर दी
अब उस खुदा से और कया मांगु
मेरी हर मुराद पुरी कर दी,
जब उसकी रहमत देखी तो वो तुम थे
हाँ तुम ही हो
???

मेरी हर दुआ मे जो मागीं है मेने वो मनत हो तुम
दुआ कबुल कर उस रब की बखशी नेयमत हो तुम
जिसकी खवाइश हर कोई करें वो जंनत हो तुम
मै कयू शुकरिया ना करु उस उपर वाले का
जिसकी रहमत से मेरे हो तुम
???

जिसके आने से अंघेरो मे चिराग जल जाए
जिसकी सासों से हवाएँ महक जाए
जो रोती आखौं मे आस जगा दे
वो हो तुम, हाँ तुमही हो वो
???
तुमसे ही सब खुशी मेरी
तुमसे ही चेहरे पर नुर है
तुम हो तो मै हु
तुम ही मेरी चाहत तुम ही गरूर हो
???

मेरी आशिकी मेरी मोहब्बत मेरी हसरत

बस अब तुम ही हो, हाँ तुम ही

Teri tasveer

एक बार जो देख लो मुस्कुरा के,
मौसम की रंगत बदल जाये,
ले लो जो अपनी बाहों में,
आईना भी शरमा जाए,
देख के सूरत आपकी उजाला सा फैला है
चेहरे का नूर देख अब तो सूरज भी पिघला है
❤️❤️
तेरी तसवीर सीने से लगा के वही सकुन है
जो तेरे साथ मे है मेरे हमदम
आ ईक बार गले लगा के तु भी देख
कया कोई फर्क तुझे महसुस होता है
???

आज तेरी तसवीर जला के आई हु
यु लगता है जैसे अपनी ही चिता जला आईं
सब खतम कर दिया तेरी बेवफाई ने
बस रिशतो के साथ दिल भी दफना के आई हु
???

तेरी तसवीर देख देख जी रही हु
ये तुम कब समझोगे
कभी युही सामने आ जायो
तो जीने का मकसद मिल जाए
???

छुप छुप के तेरी तसवीर देखती थी
वो भी छुपा ना पाई
चोरी पकडी ना जाए मेरी
तुझे दिल मे बंद किए बैठी हु
???

जीने का सहारा है ये तेरी तसवीर
जितना देखती हुँ सासें बड जाती है